Old 5 Ruppes Coin Banned : ₹5 का पुराने सिक्कों को क्यों बंद कर दिया गया? जानिए इसके पीछे की वजह

Old 5 Ruppes Coin Banned : आपको ₹5 के मोटे सिक्के बाजार में देखने बंद हो गए होंगे आखिर ऐसी क्या वजह है कि यहां सिक्के धीरे-धीरे मार्केट से खत्म हो गए। आइए जानते हैं पूरी खबर विस्तार से।

दरअसल ₹5 के सिक्के जो पुरानी मोटे वाली सिक्के थे वह मेटल वैल्यू उसकी सर फेस वैल्यू से ज्यादा थी। जिसकी वजह से तस्कर को काफी ज्यादा फायदा होता था। जिसके बाद बड़े स्तर पर इन सिक्कों का तस्करी बांग्लादेश में ले जाया जाने लगा।

Old 5 Ruppes Coin Banned

₹5 के मोटे सिक्के भारत में कई तरह के चलते हैं। और यह किस के बाद आया सुनहरा रंग का पीतल सिक्का पिछले कुछ समय पहले आपने इस बात पर जरूर गौर किया होगा कि ₹5 की पुरानी नोट इसी के मार्केट में आने बंद हो गए हैं। आसान भाषा में यह समझा जाए कि पुरानी ₹5 के सिक्के पिछले कई सालों से बनने भी बंद हो गए हैं। यह केवल बाजारों में जो सिक्के बचे हैं वही चल रहे हैं लेकिन इसके पीछे की वजह क्या है क्यों इन सिक्कों को बंद करके नई तरह किस के सिक्के बनाए गए दरअसल इसके पीछे की एक बड़ी वजह है आइए जानते हैं।

₹5 के मेटल से कैसे बनाते थे बलेड (Old 5 Ruppes Coin Banned)

आपको बता दें कि ₹5 का पुराने सिक्के काफी मोटे होते थे जिसकी वजह से सिक्का बनाने में ज्यादा मेटल भी लगता था। यह सिक्के जिस मेटल पर बने हुए होते थे दाढ़ी बनाने वाला ब्लेड भी उसी मेटल का बना होता है। जो कुछ लोगों को इस बात का जानकारी हुई तो उन्होंने इसका गलत फायदा उठाना शुरू कर दिया।

एक सिक्के से बनते थे इतने ब्लेड

आपको बता दें कि ज्यादा मेटल होने की वजह से इन सिक्कों को बांग्लादेश में गलत तरीके से पहुंचाए जाने लगा दरअसल वहां इन सिक्कों को पिघलाकर इनकी मेटल से बुलेट बनाए जाने लगा एक सिक्के से छह ब्लड बनाई जाती थी और इस बुलेट की कीमत ₹2 में बिकती थी। इस तरह एक पांच के सिक्के को पिघलाकर उससे ब्लड बनाकर ₹12 में बेचा जा रहा था इस तरह के वहां के लोगों को फायदा काफी ज्यादा हो रहा था।

सरफेस वैल्यू से ज्यादा थी इसकी मेटल वैल्यू

किसी भी सिक्के की कीमत दो तरह से तय होती है पहेली उसकी सरफेस वैल्यू और दूसरी उसकी मेटल वैल्यू। सर फेस वैल्यू वह होती है जो सिक्के पर लिखा होता है। अब ₹5 के सिक्के पर लिखा होता है मेटल वैल्यू। इसको बनाने के लिए इस्तेमाल हुई मेटल की कीमत इस तरह के ₹5 के पुराने वाले सिक्कों को पिला कर उस पर मेटल वैल्यू सर फेस वैल्यू से ज्यादा थी जिसका फायदा उठाकर उसमें ब्लेड बनाए जाने लगे।

सरकार ने रोक लगाया ₹5 के मोटे मेटल वाले सिक्के पर

जानकारी के मुताबिक जब मार्केट में सिक्के कम होने लगे और इसकी भनक सरकार को लगी तो भारतीय रिजर्व बैंक ने ₹5 के सिक्कों को पहले के मुकाबले पतला कर दिया और पहले जो सिक्के बनते थे उसे बंद कर दिया। इसको बनाने के लिए इस्तेमाल होने वाली मीटिंग को भी बंद कर दिया गया ताकि बांग्लादेशी इनसे ब्लेड ना बना सके।

ये भी पढ़े >>> Cm Yuva Swarozgar Yojana : उत्तर प्रदेश नौजवानों को बल्ले बल्ले, योगी सरकार दे रही है 25 लाख का लोन, जल्दी उठाएं फायदा

Amit Kumar

हलो मैं अमित कुमार, मैं ब्लॉगिंग के इस फील्ड में 2 सालो से कार्यरत हूँ। मैं अभी ग्रेजुएशन पार्ट 3 में हूँ। मैं पढाई के साथ साथ ब्लॉगिंग के फिल्ड में अपना कैरियर बना रहा हूँ। मैं पढाई, नौकरी समाचार, सरकारी योजना तथा मोटर कार, न्यूज़ पॉलिटिक्स पर आर्टिकल लिखना पसंद करता हूँ।

Note (नोट) :- इस ब्लॉग की सभी खबरें Google Search से लीं गयीं ,कृपया खबर (News) का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें. इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है. पाठक ख़बरे के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा.

Leave a Comment

यहाँ क्लिक करे।