Aadhaar Card धारकों को मिली बड़ी खुशखबरी, अब पॉकेट में हर वक्त आधार कार्ड रखने की जरूरत खत्म। जानिए पूरी खबर।

Aadhaar Card Virtual ID : आज के समय में जिसके पास आधार कार्ड नहीं है समझिए उसकी आधी काम रुकावट सभी जगह बनी हुई है। छोटी से लेकर बड़े चीजों में आधार कार्ड की जरूरत पड़ रही है। चाहे बैंक अकाउंट खुलवाना हो, या फिर सिम कार्ड लेना हो, या किसी अन्य सरकारी योजना का लाभ लेना हो, आधार के बिना कुछ भी आज के समय में पॉसिबल नहीं है। ऐसे में ज्यादातर लोग प्रत्येक समय अपने पास अपने पॉकेट में Aadhaar Card रखे हुए होते हैं। इससे आधार कार्ड खोने की समस्या भी बना हुआ रहता है। लेकिन अब आपको अपने पॉकेट में आधार कार्ड रखने की जरूरत नहीं पड़ेगी। क्योंकि सरकार की तरफ से वर्चुअल आधार कार्ड जारी किया जा चुका है। आईए जानते हैं वर्चुअल आधार कार्ड क्या होता है? और यह कैसे काम करता है?

वर्चुअल आधार कार्ड (VID) क्या होता है?

VID एक अस्थाई, प्रति शहरणीय, 16 अंक का संख्या होता है। जिस आधार नंबर के साथ मैप किया गया है। प्रमाणीकरण या ई केवाईसी सेवाएं निष्पादित किए जाने के दौरान आधार नंबर के बदले (VID) वर्चुअल आधार कार्ड का उपयोग किया जा सकता है। आधार नंबर का उपयोग करने के अनुरूप VID का उपयोग करके प्रमाणीकरण किया जा सकता है।

वर्चुअल आधार कार्ड (Aadhaar Card) के जरिए बहुत फायदे होते हैं लेकिन लोगों को इसकी जानकारी नहीं होता है यहां जानिए क्या है वर्चुअल कार्ड और इसे कैसे जनरेट कर सकते हैं।

वर्चुअल आधार कार्ड कैसे जनरेट करें?

VID आपका आधार कार्ड (Aadhaar Card) का एक विकल्प होता है। प्राइवेट तथा सरकारी दोनों संरक्षण में अपने e-KYC पूरा करने के लिए आप आधार कार्ड के बजाय वर्चुअल आईडी देकर अपना काम करवा सकते हैं। वर्चुअल आईडी को यूआइडीएआइ (UIDAI) के आधिकारिक वेबसाइट से जनरेट किया जा सकता है। एक आधार कार्ड के लिए एक ही वर्चुअल आईडी बनता है। उपयोगकर्ता जितनी बार चाहे उतना बार उसको जनरेट कर सकते हैं। यह कोड कम से कम एक दिन के लिए मान्य होता है। लेकिन जब तक यूजर दूसरा कोड जनरेट नहीं करता है तब तक पहले वाला कोड वैध रहता है।

वर्चुअल आईडी कार्ड (VID Card) के फायदे

आधार कार्ड की सुरक्षा और व्यक्तिगत जानकारी को लीक होने से बचने के लिए यूआइडीएआइ (UIDAI) ने वर्चुअल आईडी का विकल्प दिया है। इसमें यूजर का आधार के बजाय अपना वर्चुअल आईडी किसी व्यक्ति को एजेंसी को या फर्म को देते हैं तो एजेंसी आवेदक का आधार नंबर प्राप्त नहीं कर सकते हैं और वेरिफिकेशन हमेशा की तरह किया जाता है। इस तरह आधार नंबर और अन्य जानकारी एजेंसी के साथ साझा नहीं होता है ऐसे में आधार नंबर और अन्य जानकारी को हैक करने से बचाया जा सकता है।

ये भी पढ़े >>> Blue Aadhaar Card : उजला आधार कार्ड के बाद ब्लू आधार कार्ड, इसे बनवाना क्यों है जरूरी?

VID कैसे करें जेनरेट?

  • आधार वर्चुअल आईडी को जनरेट करने के लिए आपको पहले ऑफिशियल आईडी (uidai.gov.in) पर जाना होगा।
  • इसमें आपको लॉगिन बटन पर क्लिक करना होगा और आधार सर्विस पर जाकर वर्चुअल आईडी (VID) पर क्लिक करें।
  • यहां एक पेज ओपन होगा, इसके बाद आपको 16 अंकों का आधार नंबर और सिक्योरिटी कोड दर्ज करना होगा।
  • फिर आगे सेंड ओटीपी के बटन पर क्लिक करें और ओटीपी जनरेट करें फिर इसे सबमिट करें।
  • ओटीपी सबमिट करने के बाद (Generate VID) पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आपको वर्चुअल आईडी के जनरेट होने का मैसेज आ जाएगा।
  • इसके अलावा आप माय आधार एप (My Aadhaar) के जरिए भी इस आईडी को जनरेट कर सकते हैं।

ये भी पढ़े >>> Bank Of Baroda ने ग्राहकों को दी 2024 में पहली बार बड़ी खुशखबरी, देखें पूरी जानकारी।

Ankit वैश्यकीयार

Ankit Vaishykiyar is a Bihar native with a Bachelor's degree in Journalism from Patna University. With three years of hands-on experience in the field of journalism, he brings a fresh and insightful perspective to his work. Ankit Vaishykiyar is passionate about storytelling and uses his roots in Bihar as a source of inspiration. When he's not chasing news stories, you can find him exploring the cultural richness of Bihar or immersed in a good book.

Note (नोट) :- इस ब्लॉग की सभी खबरें Google Search से लीं गयीं ,कृपया खबर (News) का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें. इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है. पाठक ख़बरे के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा.

Leave a Comment

यहाँ क्लिक करे।